अंतर्राष्टीय राजनैतिक

पाक विदेश मंत्री से मिलेंगी सुषमा

अमेरिका में अगले महीने संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के सालाना सत्र से इतर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके नये पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी के बीच मुलाकात की संभावना है। एक अखबार ने इस तरह की खबर दी है। इमरान खान के 18 अगस्त को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद पर काबिज होने के बाद यह दोनों देशों के बीच पहली मंत्रिस्तरीय द्विपक्षीय वार्ता हो सकती है।
डॉन अखबार ने अमेरिका में एक वरिष्ठ पाकिस्तानी राजनयिक के हवाले से कहा, ‘‘ऐसी मुलाकात संभावित है लेकिन अभी तक कोई फैसला नहीं किया गया है।’’ विदेश मंत्रालय ने सुषमा और कुरैशी के बीच इस तरह की किसी मुलाकात की घोषणा नहीं की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इमरान खान को पत्र लिखकर दोनों देशों के बीच अच्छे पड़ोसियों के संबंध बनाने के भारत के संकल्प को व्यक्त किया था।

मोदी ने जुलाई में खान से फोन पर बात की थी और आम चुनाव में उनकी पार्टी की जीत पर बधाई दी थी। उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों देश द्विपक्षीय संबंधों में नया अध्याय शुरू करने की दिशा में काम करेंगे। संयुक्त राष्ट्र महासभा का 73 वां सत्र न्यूयॉर्क में 18 सितंबर से शुरू होगा।

संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी वक्ताओं की अस्थाई सूची के अनुसार सुषमा स्वराज 29 सितंबर को यूएनजीए के वार्षिक उच्चस्तरीय सत्र को संबोधित करेंगी। खबर के मुताबिक पाकिस्तान यूएनजीए सत्र के लिए अपने एजेंडे को सार्वजनिक नहीं कर रहा और अभी तक फैसला नहीं कर पाया है कि यूएनजीए में उसका प्रतिनिधि कौन होगा।

इस्लामाबाद में तो इस तरह की भी अटकलें हैं कि सरकारी खर्च को कम करने के प्रयासों के तहत इमरान खान इस बार यूएनजीए की बैठक में हिस्सा नहीं ले सकते हैं। हालांकि पाकिस्तान के कई राजनयिकों और राजनीतिक विश्लेषकों ने उनसे इस फैसले पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया है।