अंतर्राष्टीय

मालदीव में ब्रिटिश कालीन मूर्तियों को कुल्हाड़ी से तोड़ा । सरकार ने बताई ये वजह

कोलंबो: मालदीव के निवर्तमान राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन द्वारा ब्रिटिश कालीन कुछ मूर्तियों को इस्लाम के लिए अपमानजनक बताए जाने के बाद पुलिस ने कुल्हाड़ी और अन्य उपकरणों की मदद से मंगलवार को उन्हें तोड़ दिया. यामीन ने जुलाई में ही इन मूर्तियों को नष्ट करने का आदेश दिया था लेकिन उसका पालन शुक्रवार को किया गया. जेसन डि‘कैरस टेलर द्वारा बनायी गयी मूर्तियों को मालदीव के एक रिसॉर्ट में आधे डूबे हुए धातु के कंटेनर में रखा गया था. मालदीव का आधिकारिक धर्म इस्लाम मूर्ति निर्माण को प्रतिबंधित करता है. जुलाई में जब इन मूर्तियों को लगाया गया था तभी कुछ धर्मगुरूओं ने इसकी आलोचना की थी, हालांकि इन मूर्तियों का इस्लाम से कोई नाता नहीं है.

(इस खबर को जनतंत्र ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)