अंतर्राष्टीय

भोपाल । FCI खजुराहो में आरक्षित पद पर नियम विरूद्ध भर्ती*

IHM भोपाल द्वारा करवाई जा रही FCI एवं SIHM की भर्तियो में धांधली थमने का नाम ही नहीं ले रही है ऐसा प्रतीत होता है की जैसे मनोज सिंह की शह पर आनंद सिंह एवं शरद नौटियाल द्वारा नियमो की धज्जियाँ उड़ाई जा रही है जैसे FCI खजुराहो में टिलेश मोरवाल का चयन सहायक व्याख्याता (अनुसूचित जाति) पद पर किया गया है जबकि टिलेश राजस्थान के मूल निवासी है एवं उनकी जाति राजस्थान में अनुसूचित जाती की श्रेणी में आती है एवं FCI खजुराहो मध्य प्रदेश शासन का संस्थान है एवं म.प्र शासन के आरक्षण नियम अनुसार केवल म.प्र के मूल निवासी व्यक्तियों को ही अनुसूचित जाति अथवा जनजाति आरक्षण लाभ मिलता है किन्तु इन सभी नियमो को ताक पर रखकर आनद सिंह , मनोज सिंह एवं शरद नौटियाल के द्वारा मनमानी की जा रही है एवं नियमो का जमकर मजाक बनया जा रहा है . सूत्रों की माने तो टिलेश मोरवाल शरद नौटियाल के अनन्य भक्त है जिसके फलस्वरूप उन्हें नियम विरूद्ध नियुक्ति देकर उपकृत किया जा रहा है . ऐसा ही प्रयास शरद नौटियाल एवं आनंद सिंह के द्वारा समर्थ शर्मा के लिए भी किया जा रहा था किन्तु समय रहते उनके इस कारनामे की खबर उच्च अधिकारियो को लग जिससे एक भ्रस्टाचार होने से रुक गया . वही इसके उलट सहायक व्याख्याता हेतु संपन्न की गयी लिखित परीक्षा में टापर रहे उम्मीदवार को नौटियाल द्वारा प्रतीक्षा सूचि में दुसरे नंबर पर कर दिया गया ताकि उसका चयन किसी भी परिस्तिथि में न हो सके . प्रश्न यह उठता है की भर्ती में कारनामे क्यों हो रहे है तो इसका जवाब है की जिन लोगो को भर्ती करवाने का जिम्मा मनोज सिंह द्वारा दिया गया है वे दोनों (आनंद सिंह एवं शरद नौटियाल ) खुद फर्जी प्रमाण पत्रों एवं अपनी भर्ती स्वयं करवाने के लिए विवादों में रहे है तो ऐसे लोगो द्वारा कभी भी कोई निष्पक्ष भर्ती प्रक्रिया संपन्न नहीं करवाई जा सकती है एवं ऐसे लोग सिर्फ शासन के पैसो की बर्बादी कर रहे है और उससे नित्य नए विवादों को जन्म दे रहे है.

Jantantr
जनतंत्र वेब न्यूज़ में खबर एवम विज्ञापन के लिये सम्पर्क करें -----9425121237
http://jantantr.com/