अंतर्राष्टीय

#MeToo: मीटू मूवमेंट पर खुलकर बोलीं प्रियंका चोपड़ा, ‘महिलाओं का उत्पीड़न एक आदर्श बन गया था’

बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड में अपनी अच्छी पहचान बना चुकी हैं। वे न सिर्फ अपनी एक्टिंग से जानी जाती है बल्कि स्टाइल के साथ-साथ ऐंबिशन और स्ट्रॉन्ग डिसीजन्स की वजह से भी जानी जाती है। इसलिए वह कई बार फोर्ब्स की दुनिया की सबसे शाक्तिशाली महिलाओं की लिस्ट में शामिल हो चुकी हैं। हाल में ही वह दसवें ‘ऐनुअल विमिन इन द वर्ल्ड समिट’ में हिस्सा लिया। जहां पर उन्होंने मीटू के बारें मे खुसकर बात की। इस दौरान प्रियंका ने कहा, ‘महिलाओं का यौन उत्पीड़न करना एक आदर्श बन गया था। लेकिन अब हम एक- दूसरे को सपोर्ट दे रहे हैं तो लोगों की हिम्मत नहीं है हमेें चुप करानेंं की   |”

कुछ समय पहले एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न का खुलासा किया था। उन्होंने बताया था कि हॉर्न ओके प्लीज फिल्म की शूटिंग के दौरान एक्टर नाना पाटेकर ने उनका यौन उत्पीड़न किया था। इसके बाद कई बॉलीवुड सिलेब्रिटीज ने इस बारे में सामने आकर अपने साथ हुए उत्पीड़न के बारे में बताया था जिसके बाद कई बड़ी हस्तियों के नाम सामने आए थे जिसमें साजिद खान, विकास बहल, राजकुमार हिरानी, अनु मलिक और आलोक नाथ जैसे नाम शामिल थे।

दसवें ‘ऐनुअल विमिन इन द वर्ल्ड समिट’ को होस्ट कर रहीं टीना ब्राउन ने प्रियंका चोपड़ा से कई सवाल-जवाब किए।

प्रियंका ने कहा कि सेक्शुअल हैरसमेंट महिलाओं के साथ आम बात हो गई है। अब जो सपॉर्ट हम एक-दूसरे को दे रहे हैं उसके कारण अब कोई हमें चुप नहीं कर सकता है। उन्होंने कहा कि महिलाएं हमेशा से आवाज उठा रही थीं लेकिन अब जो सपॉर्ट वे एक-दूसरे को दे रही हैं उसकी वजह से कोई उन्हें चुप नहीं करा सकता है।

प्रियंका ने कहा, ‘मेरे पास अगर एक कहानी है तो अब मुझे यह नहीं लगेगा कि मैं अकेली हूं। न ही मुझे उस पर शर्म आएगी’। होस्ट टीना ने उनसे जब पूछा कि क्या उन्होंने कभी यौन शोषण का सामना किया है तो उन्होंने ‘हां’ में जवाब दिया और कहा कि मुझे लगता है कि इस रूम में मौजूद हर महिला ने कभी न कभी इसका सामना किया है।

Jantantr
जनतंत्र वेब न्यूज़ में खबर एवम विज्ञापन के लिये सम्पर्क करें -----9425121237
http://jantantr.com/