मनोरंजन

वर्ष 2019 में केवल 50 लाख 5G स्मार्टफोन ही होंगे उपलब्ध, जानें क्या है इसकी वजह

नई दिल्ली (टेक डेस्क)। भारत में 5G जल्द ही दस्तक देने की तैयारी में है। इससे पहले ही स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों ने अपने 5G हैंडसेट को लॉन्च करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। कई कंपनियों जैसे वनप्लस, शाओमी, वीवो जैसी चीनी कंपनियां ने 5G स्मार्टफोन्स के लॉन्च को लेकर पिछले वर्ष कई बयान दिए थे। इसी के चलते यूजर्स भी 5G स्मार्टफोन्स का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। अब एक रिपोर्ट सामने आई है जिसमें अनुमान लगाया जा रहा है कि वर्ष 2019 में केवल 50 लाख 5G हैंडसेट्स ही उपलब्ध हो पाएंगे।

यह रिपोर्ट समाचार एजेंसी योनहाप द्वारा बनाई गई है। इसमें बताया गया है कि इंडस्ट्री ट्रैकर ट्रेंडफोर्स के मुताबिक, सैमसंग और हुआवे जैसी फोन निर्माता कंपनियों ने 5G डिवाइसेज में सक्रिय रूप से निवेश किया है जिससे वो 5G लॉन्चिंग के समय यूजर्स के बीच अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो सकें।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि 5G केवल 0.4 फीसद तक ही पहुंचेगा क्योंकि इसके इंस्फ्राटक्चर का निर्माण अभी पूरी नहीं हुआ है। TrendForce ने कहा है कि कमर्शियल कम्यूनिकेशन के लिए 5G बेस स्टेशन्स के वर्ष 2022 तक पूरी तरह स्थापित होने की संभावना नहीं है। ऐसे में रिपोर्ट में कहा गया है कि 5G स्मार्टफोन को लोकप्रिय बनाने के लिए 5जी इन्फ्रास्ट्रक्चर की बड़े पैमाने पर स्थापना की जरूरत है। इसके अलावा टेलिकॉम कपनियों को भी बेहतर तरह से 5G नेटवर्क उपलब्ध कराना होगा।

जाहिर है कि अगर यूजर 5G सर्विस इस्तेमाल करना चाहते है तो उन्हें ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे। इससे पहले वनप्लस के सीईओ पेटे लाउ ने कहा था कि 5G स्मार्टफोन खरीदने के लिए लोगों को ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे। खबरों की मानें तो वनप्लस के 5जी स्मार्टफोन की कीमत 849 डॉलर यानी करीब 60,000 रुपये हो सकती है।

 

Jantantr
जनतंत्र वेब न्यूज़ में खबर एवम विज्ञापन के लिये सम्पर्क करें -----9425121237
http://jantantr.com/